Shivam : तीन साल का शिवम् गिरा 60 फिट निचे बोरवेल में समय पर आकर रेसक्यू टीम ने 60 फिट के गढ्ढे से बाहर निकाला |

Shivam : तीन साल का शिवम् गिरा 60 फिट निचे बोरवेल में समय पर आकर रेसक्यू टीम ने 60 फिट के गढ्ढे से बाहर निकाला |

आपको बता दे की यह वास्तविक घटना बिहार के नालंदा की है बताया जा रहा है की तीन साल का शिवम् अपनी माँ के साथ खेत में खेल रहा था उअर उसकी माँ कुछ दूर पर काम कर रही थी | बताया जा रहा है की एक किशन ने अपने खेत में 150 फिट का बोरवेल करवाए थे | जब शिवम् की माँ खेत में काम कर रही थी तब शिवम् खेलते खेलते उसका पैर फिसला और वह उस बोरवेल के गढ्ढे में गिर कर फस गया | यह घटना सुबह के 9 बजे की है तभी सभी तरफ हडकंप मच गया की शिअवं बोरवेल के गढ्ढे में गिर गया, शिवम् के पिता डोमन मांझी ट्रक्टर लेकर खेत में गए थे जब उन्हें मालूम चला की उनका बेटा शिवम् बोरवेल के गढ्ढे में गिर गया है तभी शिवम् के पिता को होस नहीं रहा | फिर वहा पर भीड़ इकठ्ठा हो गयी और उस तीन साल के शिवम् की रोने की आवाज आ रही थी | तभी फिर पुलिस प्रशाशन के पास फ़ोन करके बुलाया गया तो प्रशाशन आ कर वहा पर अन्दर गढ्ढे में कैमरा डालकर देखा गया तो उस कैमरे में शिवम् के बारे पता लगाया गया | फिर मौके पर ndrf की टीम और strf की टीम आकर उस बच्चे को गढ्ढे से बाहर निकालने के jcb का प्रयोग करके बोरवेल के बगल में गढ्ढे की खुदाई करने लगे | फिर 8 घंटे के मसक्कत के बाद शिवम् को पाईप में हुक लगाकर उसे फसा कर शिवम् को बाहर निकाला गया और उसे निकालने के दौरान उस गढ्ढे में शिअवं के पास आक्सीजन में भेजा गया ताकि शिवम् गढ्ढे में सही रहे और फिर उसे गढ्ढे से बाहर निकाला गया और फिर वहा से निकालने बाद शिवम् को रेसक्यू टीम शिवम् को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया है ताकि तीन साल का शिवम् 8 घंटे उस बोरवेल के गढ्ढे में रहा है | डॉ प्रशांत का कहेना है की शिअवं की हालत अब बिलकुल ठीक है और वह खतरे से बाहर है फ़िलहाल में शिवम् की जाँच चल रही अब उसकी हालत ठीक है | आपको बतादे की रेसक्यू टीम उस तीन साल के लड़के को बचाने में पूर्ण रूप से कामयाब हुयी | तीन साल का शिवम् इतना साहसी है वह 8 घंटे बोरवेल के गढ्ढे में रोता रह गया और रेसक्यू की टीम भगवान् बनकर वहा पर आकर उस तीन साल के शिवम् की जान बचा ली | इस आर्टिकल को पढने के बाद आप लोग भी अपने आस पास के बोरवेल के गढ्ढे  से अपने बच्चो बचाए और दुसरो को भी सलाह दे की इस तरह से बोरवेल करा कर उसे खुला ना छोड़ दे उस बोरवेल को किसी चीज सर ढक दे ताकि उसमे कोई भी बच्चा या जानवर न फस पाए |

Leave a Comment