Pragyan Rover : इसरो से प्रज्ञान रोवर कनेक्ट नहीं हुआ | प्रज्ञान रोवर का खेल हमेसा के लिए ख़त्म हो गया ||

Pragyan Rover : इसरो से प्रज्ञान रोवर कनेक्ट नहीं हुआ | प्रज्ञान रोवर का खेल हमेसा के लिए ख़त्म हो गया ||

तो दोस्तों आप लोगो को क्या लगता है की प्रज्ञान रोवर इसरो से फिर से कनेक्ट हो पायेगा या नहीं तो दोस्तों बताया जा रहा है इसरो के वैज्ञानिको ने 22 सितम्बर को प्रज्ञान रोवर को सिंगनल भेजा था मगर बताया जा रहा है की प्रज्ञान रोवर इसरो के कनेक्ट में न आ सका तो दोस्तों आपको बता दे की इसरो के वैज्ञानिको का कहेना है की हम प्रज्ञान को कनेक्ट करने के लिए पूरी कोशिश कर रहे है उनका कहेना है की हमने प्रज्ञान रोवर को कनेक्ट करने की पूरी कोशिश कर रहे है लेकिन आपको बता दे की इसरो का कहेना है की जिस काम के लिए प्रज्ञान रोवर को चन्द्रमा पर भरजा गया था प्रज्ञान रोवर ने वह काम पूरा कर लिया है आपको बता दे की चन्द्रमा पर 14 दिनों के लिए सूर्य उदय हो गया लेकिन समस्या यह है की प्रज्ञान रोवर इसरो से कनेक्ट हो पायेगा या नहीं लेकिन लोगो का कहेना है की हे भगवान् प्रज्ञान रोवर को इसरो से कनेक्ट कर दो आपको बता दे की पूरी जनता चाहती है प्रज्ञान रोवर का मिशन फिर से चालू हो जाए लेकिन आपको बता दे की चंद्रयान 3 मिशन के दौरान इसरो जो सफलता पायी वह पुरे देश में मसहुर है बताया जा रहा है प्रज्ञान रोवर इसरो के कमांड से कनेक्ट बिलकुल भी नहीं हो पा रहा है अब भगवान् से ही प्रर्थ करनी होगी की प्रज्ञान रोवर से फिर से कनेक्ट हो जाए लेकिन आपको बता दे की इसरो के वैज्ञानिको ने खुद ही कहा है की अगर प्रज्ञान रोवर की बैरटी सही होगी अगर वह ख़राब नहीं हुयी होगी तो सूर्य की किरने उसपे पड़ेंगी तो प्रज्ञान रोवर चार्ज होगा और फिर उसे तब इसरो के कमांड के द्वारा कनेक्ट किया जाएगा |

प्रज्ञान रोवर का क्या हुआ इसरो के कमांड से कनेक्ट हुआ या नहीं |

तो मेरे प्यारे मित्रो आपको बता दे की इसरो ने खुद ही कहा है हम पूरी कोशिश कर रहे है की हमारा प्रज्ञान रोवर से कनेक्ट हो जाए मगर अभी तक तो कोई भी एसी चीज इसरो के हाथ नहीं लगी है की पता चल सके की प्रज्ञान रोवर काम कर पायेगा या नहीं तो दोस्तों आपको बता दे की भारत ने पहली ही सफलता में चन्द्रमा की दक्षिणी ध्रुव पर अपना पहला कदम भारत रख चूका है लेकिन आपको बता दे की भारत देश ही वह येसा देश है की जिसने चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर सफलता पूर्वक अपना कदम रखा बताया जा रहा है जब इसरो ने चन्द्रमा पर सफलता पायी तब सरे देश चर्ह्चे हो रहे थे मगर आपको बता दे की अगर प्रज्ञान रोवर फिर से काम करना शुरू कर देता है तो समझिये की भारत को एक और सफलता मिल गयी है आपको बता दे की इसरो का कहेना है की जिस काम के लिए इसरो ने प्रज्ञान रोवर को चन्द्रमा की सतह पर उतारा था वह काम पूरा हो चूका है इसरो ने अपनमा काम पुअर करने बाद ही प्रज्ञान रोवर को चन्द्रमा पर 14 दिनों के रात होने पर प्रज्ञान रोवर की बैट्री को फुल चार्ज करने के प्रज्ञान रोवर को स्लिप मोड़ कर दिया गया था क्योकि चन्द्रमा पर 14 दिनों तक प्रज्ञान रोवर ने अपना काम किया जब वहा पर 14 दिनों के लिए रात हुयी तब प्रज्ञान रोवर को स्लिप मोड़ में करके छोड़ दिया गया था तो दोस्तों अब जब चन्द्रमा पर फिर से 14 दिनों के दिन हो गया है तो इसरो के वैज्ञानिको ने प्रज्ञान को कनेक्ट करने के लिए सिंगनल भेजा तो उधर कोई भी जवाब अभी तक नहीं आया है लेकिन आपको बता दे की जैसे ही कोई भी खबर प्रज्ञान रोवर जुडी हुयी आती है हम वैसे ही तुरंत आपके पास जानकारी लेकर हाजिर हो जायेंगे |

 

Leave a Comment