Manipur : मणिपुर की महिलाओ को नंगा सड़क पर घुमाने वाले दरिंदो को कोर्ट ने फासी की सजा सुनाई |  

Manipur : मणिपुर की महिलाओ को नंगा सड़क पर घुमाने वाले दरिंदो को कोर्ट ने फासी की सजा सुनाई |  

Manipur : मणिपुर की महिलाओ को नंगा सड़क पर घुमाने वाले दरिंदो को कोर्ट ने फासी की सजा सुनाई |  

मणिपुर में जो घटना हुयी है उस घटने तो सबके दी दहला दिए है आपको बता दे की घटना वर आरोपियों को तो सरकार कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की है मणिपुर में जो घटना हुआ है उससे कई बोलीबूड के अभिनेत्रियों ने भी इस घटना पर बहुत जिक्र किया है और बोली है की यह केवल उस लकड़ी के साथ नहीं बल्कि उन तीनो महिलो के निवश्त्र होने से भारत की हर एक महिला अपने आप को निवश्त्र महसूस कर रही है | जनता ने भारत सरकार से मांग की है मणिपुर के निवाशियो को इंसाफ मिलना चाहिये और जिन दरिंदो ने येसा करने में थोडा भी नहीं सोचे उन्हें तो फासी देनी चाहिए | आपको बता दे की मणिपुर का परेड वाला विडियो वायरल होते ही पूरी दुनिया को शर्मसार कर दिया है और आपको बता दे की मणिपुर के हादसे में से आई लकड़ी का कहेना है की जब मैथली की युवाओ के भीड़ ने पुलिस की जिप को घेर कर हम पांचो को अपने कब्जे कर लिए और हमारे पिता को भीड़ से दूर लेजाकर उन्हें मार दिए और हमारे साथ भीड़ ने बहुत बुरा की हमारे कपडे उतारने को बोले तो हमने मना कर दिए तो उन्हेंने हमें जान जे मारने की धमकी देने लगे तो हम तो हम अपनी जान बचाने के लिए अपने कपडे को उतारने लगे तब हमारे भाई ने हमें बचाने के आया तभी वह भीड़ उसे भी जान से मार दी और हमारे साथ भीड़ ने बहुत गन्दा व्यव्हार किया हमें निवश्त्र करके भीड़ ने हमारे अंगो को एक जानवर की तत्रह हमें नोचने लगे और हमें खेत की तरह खीचकर भीड़ ने हमें जमीन पर लेटा दिए दरिंदो ने भीड़ से पूछा की कौन कौन रेप कतरना चाहता है तो भीड़ में काफी लोग मिलकर हमारे साथ गैंग रेप किये |

आपको बता दे की मणिपुर के मैथली युवाओ ने तीन महिलो को निवश्त्र करके उन्हें भीड़ के साथ पेड कराया और फिर हमारी अबरू के साथ खेला गया और हमने रहम की भीख मांगी तो दरिंदो का कहेना है कुर्की वाले हमारी बहु बेटियों के साथ गलत किया है अब हम भी तुम लोगो के साथ वैसा ही करेंगे | मैथली की युवाओ ने थोबल इलाके को पूरी तरह से तहस नहस कर दिए थे और उनके भेड़ बकरियों को भी उनसे लूटकर उन्हें चाकू लाठी और गोलिये से हमला किये थे | उसी भीड़ से निकलर पांच लोग जंगल की तरफ भागे और और एक झाड़ लके पास जाकर छिप गए तबी वहा पर भेड़ बकरिया आग से अपनी जान बचाकर जंगल की तरफ भागी वह भी वाही आ गयी जहा हम लोग अपनी जान बचाकर छिपे हुए थे | मैथली वाले वहा भी भेड़ बकरियों को खोजते हुए वहा ओपर आये और हम वहा से रोड की तरफ भागे और हमें पुलिस की जिप दिखाई दी और हमें पुलिस वाले अपने साथ ले लिए तो हमें लगा की अब हमारी जान बाख जाएगी | लेकिन मैथली की भीड़ ने जिप को घेर लिया और हमें पुलिस छिनकर भीड़ ने हमें घेर लिया और भीड़ हमपर लात घुसे चलने लगे और हमारे कपडे फाड़ने लगे और हमारे पिता को भीड़ से दूर लेजाकर उनकी हत्या कर दिए | और हमारा भाई हमको बचाने आया तब भीड़ ने उसे भी मार दिया | और हमें जान से मारने की धमकी दे कर हमारे कपडे उतरवाकर हमको जानवर की तरह नोचते रहे और हमें खेत में खीचकर हमारे साथ सामूहिक बलत्कार भी किये और हमें निवश्त्र करके खुले आम सडको पर घुमाया | जानत सरकार ये जानना चाहती है की जब उन तीन महिलो को नंगा सडको पर घुमाया जा रहा था तब सरकार क्या कर रही थी सरकार हमें जवाब दे या मैनपुर के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह को इस्थपा दे देना चाहिए | या तो मणिपुर को इंसाफ दिलाईये या फिर आप मुख्यमंत्री के पद से इस्थपा दीजिये |

Leave a Comment