Chnadrayan 3 लैंडर विक्रम से बाहर निकलकर रोवर प्रज्ञान चन्द्रमा पर क्या कर रहा है |

Chnadrayan 3 लैंडर विक्रम से बाहर निकलकर रोवर प्रज्ञान चन्द्रमा पर क्या कर रहा है |

तो दोस्तों जैसा की आप लोग जानते है की चंद्रयान 3 चन्द्रमा पर लैंडिंग हो चूका है और उसके अंदर से यानि के विक्रम लैंडर में से रोवर प्रज्ञान बाहर निकलकर अब क्या कर रहा है तो जैसा की हमसे इसरो वैज्ञानिकों के द्वारा ही यह संभव हो पाया है की भारत आज चन्द्रमा पर है और आपको बता दे की आज पुरे भारत के वसिरो को अपने वैज्ञानिकों के ऊपर गर्व महसूस हो रहा है की जो आज बड़े बड़े देश नहीं कर पाए वो आज भारत उसे कम पैसो के लागत में ही कर दिखाया | बताया जा रहा है की विक्रम लैंडर से बाहर निकलर रोवर प्रज्ञान अब चन्द्रमा की सतह पर जाँच करके रिपोर्ट इसरो के वैज्ञानिकों तक पहुचायेगा | प्रधान मंत्री मोदी जी ने भी इसरो के वैज्ञानिकों को फोन करके बधाई दिए है और फ़िलहाल में वह बाहर गए है वह वही से चंद्रयान 3 मिशन का लैंडिंग लाइव देख रहे थे | इसरो के वैज्ञानिकों का कहेना है की चन्द्रमा पर हमने चंद्रयान 3 को सफलतापूर्वक लैंडिंग करा दिए है और अब बारी है चन्द्रमा के सतह पर जब हमारा रोवर प्रज्ञान जब खोज करके सारी जानकारी हमको देता रहेगा और चन्द्रमा पर क्या क्या चीजे है ओ हम लोगो को मालूम पड़ेगा और यह मिशन रोवर प्रज्ञान का 14 दिनों का है इस मिशन के अनुसार रोवर प्रज्ञान में  सोलर लगाया है और इसके चलते वह खुद सूर्य की रौशनी से चार्ज होगा और वह 50 वाट की बिजली खुद उत्पन्न करेगा और उसी के सहारे चन्द्रमा 14 दिनों तक रहकर वहा के बारे में इसरो के वैज्ञानिकों को सारी जानकारी देता रहेगा और वहा चन्द्रमा के बारे में हमें उपडेट करता रहेगा की वह क्या क्या चीजे जल्दी होती है |

जो चीन अमेरिका रूस ने नहीं कर पाया वह भारत के वैज्ञानिकों ने कर दिखाया |

तो दोस्तों आपको बता दे की आज पुरे भारत देश में उत्सव का दिन है की भारत ने वह कर दिखाया जो अभी तक किसी देश ने नहीं कर पाया था भारत ने तो उसे कम बजट में ही कर दिया है और एक नया इतिहास रच दिया है | तो दोस्तों जैस की आप लो जानते है की हमरे देश के वैज्ञानिकों ने कर दिखाया है की मुसीबत चाहे कितनी भी बड़ी क्यों न हो मगर वह मेहनत के आगे हार ही जाती है तो दोस्तों इसरो के वैज्ञानिकों का कहेना है की रोवर प्रज्ञान 14 दिनों तक चन्द्रमा की सतह पर रहकर वो वहा पर पता लगाएगा की चन्द्रमा पर वायु मंडल है की नहीं और वहा पर पानी की मात्रा है की नहीं | आपको बता दे की जहा पर चंद्रयान 3 को उतारा गया था वहा पर बताये जा रहे है की वहा बड़े बड़े पहाड़ है की उसमे हिमालय भी समा सकता है और वहा ज्वाला मुखी भी जल्दी फटता है और वहा पर भूकंप भी आने का सदेह रहता है यह सब पता लगाने के लिए ही रोवर प्रज्ञान 14 दिनों तक चन्द्रमा रहेगा और इसरो को इसकी जानकारी देता रहेगा और वैज्ञानिक चन्द्रमा के बारे में खोज जारी रखे है पता लगा रहे है की क्या चन्द्रमा पर मनुष्य भी रह सकते है की नहीं | आज पूरा देश चंद्रयान 3 मिशन को शाबासी दे रहा है और वाही पाकिस्तान भी भारत को अच्छा कह रहा है अब आपको बता दे की सारे देश की नजर केवल भारत के चंद्रयान 3 मिशन पर ही थी जब भारत अपने मिशन में कामयाब हो गया तो | आज कई देश भारत के वैज्ञानिको के साथ मिलकर काम करना चाह रहे है | भारत के वैज्ञानिक चन्द्रमा की खोज में जुटे है और रोवर प्रज्ञान इसरो को जानकारी देगा और वह सूर्य की रौशनी से

Leave a Comment