Chandrayan 3 भारत वह पहला देश बन गया जो चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर अपना झंडा लहरा दिया |

Chandrayan 3 भारत वह पहला देश बन गया जो चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर अपना झंडा लहरा दिया |

तो दोस्तों जैसा की आप लोग जानते है की 23 अगस्त के दिन चंद्रयान 3 मिशन के मुताबित 6 बजके 4 मिनट पर चंद्रयान 3 को चन्द्रमा पर सोफ्ट लैंडिंग भारत ने करा दिया है ये कोई भी देश नहीं कर पाया था जो भारत ने कर दिखाया और अमेरिका ,चीन .रूस जैसे देश भी वहा पर चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर अभी तक नहीं पहुच पाए तो जो भारत ने अपने मेहनत के दम पर कर दिखाया | चंद्रयान 3 चन्द्रमा पर सोफ्ट लैंडिंग कर चूका है अब विक्रम प्रज्ञान का मिशन 14 दिनों तक चलेगा और इसमें पता लगाया जाएगा की चन्द्रमा पर क्या क्या चीजे हो सकती है | आपको बता दे की बताया जा रहा है की भारत का चंद्रयान 3 को बनाने में कुल लगभग 600 सौ करोड़ से अधिक बजट लगा था जो की अन्य देशे के मुताबित यह बहुत ही कम है जबकि अमेरिका ने भी चन्द्रमा पर लूना 25 भेजी थी जो क्रैस हो गया उसकी लागत लगभग तीन हजार करोड़ थी फिर भी वह असफल रहा और भारत ने तो कम बजट में ही वो कर दिखाया जो कभी किसी ने भी कर नहीं पाया था | चंद्रयान 3 लैंडिंग होने बाद इसरो के वैज्ञानिको का खुसी ठिकाना ही नकही रहा वह अपने लैब में ही खुसिया मनाने लगे और मिठाईया भी आपस में बाटने लगे और यह बहुत ही गर्व की बात है की आज भारत ने चन्द्रमा पर फतय हासिल कर ली है और आज पूरा देश खुसी से झूम उठा है और देश विदेश में में भारत के गुण गाये जा रहे है | इसरो के वज्ञानिको के द्वारा यह मिशन बहुत ही सही सलामत कामयाब हुआ |

चंद्रयान 3 के सॉफ्ट लैंडिंग से आज पूरा देश ख़ुशी का जश्न मना रहा है |   

आज पूरा देश भारत देश का गुण गा रहा है और पुरे देश में 23 अगस्त का दिन बहुत ही धूमधाम से मनाया जा रहा है जैसे की मनो कोई त्यौहार हो और यह किसी त्यौहार से कम नहीं और यह ख़ुशी की ही बात है की भारत आज चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुचकर अपना झंडा गाड़ दिया है यह्व बहुत गर्व की बात भारत देश के लिए | जगह जगह पर लड्डू और मिठाईया बाटी जा रही है चंद्रयान 3 के सॉफ्ट लैडिंग का उत्सव मनाया जा रहा है चंद्रयान 3 जैसे ही चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर लैंडिंग किया वैसे इसरो के वैज्ञानिको के लैब में ख़ुशी का माहौल बन गया और सब ख़ुशी से नाचने लगे | क्योकि जब चंद्रयान 2 चन्द्रमा के कक्ष में पहुचकर भी लैंड होने से पहले ही क्रैस हो गया था और इसरो के वैज्ञानिको ने उस गलती को दुबारा ना दोहराते हुए इस बार चंद्रयान 3 को उतरने के लिए वह अपनी जगह को खुद तलाश करेगा और वैज्ञनिको के मुताबित यही हुआ की अगर चंद्रयान 3 लैंड नहीं होता तो उसे किसी दुसरे जगह पर ही उतारा जाता | चंद्रयान 3 के लिए पहले से ही जगह को तय किया गया था और चंद्रयान 3 लगभग 20 जगहों के बारे में जानकारी भी थी और चंद्रयान 3 उस जगह पर लैंड नहीं होता तो वह खुद अपने से ही अपना जगह उतरने के खोज लेता | चंद्रयान 3 जैसे ही सही सलामत चन्द्रमा पर लैंड हुआ तो पुरे देश में ख़ुशी का ही माहौल हो गया और स्कूलों में भी बच्चो को मिठाईया बाटी गयी | बी जे पी के कार्य कर्ताओं ने हाथ में तिरंगा लेकर लहराते हुए नजर आये लड्डू बाटते भी नजर आये आपको बता दे की यह भारत के लिए बहुत ही बड़ा जश्न है की भारत ने चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर अपना झंडा गाड़ दिया है |

Leave a Comment