Chandrayan 3 : चाँद पर रात हो गई प्रज्ञान रोवर का काम तमाम हो गया |

Chandrayan 3 : चाँद पर रात हो गई प्रज्ञान रोवर का काम तमाम हो गया |

तो दोस्तों बताया जा रहा है की चन्द्रमा पर अब रात हो गयी है और वैज्ञानिकों का कहेना है चन्द्रमा पर रात हो जाने जाने कर्ण हमारा प्रज्ञान जो चन्द्रमा पर चल कर चन्द्रमा की जानकारी हमें दे रहा था वह अब स्लीप मोड़ में हो गया है क्योकि वहा पर इस समय रात हो गयी और बताया जा रहा फिर अब 14 दिनों के बाद चन्द्रमा पर जब दिन होगा तो फिर प्रज्ञान को यहाँ से सिगनल भेजा जाएगा और अगर सिगनल सही काम करेगा तो प्रज्ञान फिर से एक्टिव हो जाएगा और चन्द्रमा के बारे में जानकारी इक्कठा करने लगेगा और बताया जा की प्रज्ञान को वापस लाने की कोई अभी एसी मशीन बनी ही नहीं थी वैज्ञानिकों ने तो चन्द्रमा पर जाने के लिए ही इसे बनाया था ताकि वहा पर जाकर जानकारी दे सके और बताया जा रहा है की वैज्ञानिकों का कहेना है हम 22 सितम्बर को प्रज्ञान को सिगनल भेजा जाएगा अगर सही काम किया तो हमारा मिशन दुबारा से काम करने लगेगा और हम फिर चन्द्रमा के बारे में जानकारी इक्कठा करने लगेंगे और वैज्ञानिकों का कहेना है है की पहले प्रज्ञान को 4 फिट गढ्ढे से बचाया गया था और आपको बता दे की बताया जा रहा है की प्रज्ञान के अंदर कई मशीने लगी हुयीं है जो चन्द्रमा के बारे में वह प्रज्ञान खुद जाँच करके इसरो को भेजेगा और फिर यह काम तो चालु ही था मगर अब चन्द्रमा पर रात हो जाने के कारण वहा पर अब प्रज्ञान 14 दिनों तक कुछ भी काम नहीं करेगा और फिर उसे जब 14 दिनों के बाद यह से सिगनल भेजा जाएगा तो फिर देखा जाएगा की प्रज्ञान एक्टिव हो पा रहा है की नहीं |

प्रज्ञान रोवर अब चन्द्रमा पर कैसे बचेगा |

तो दोस्तों यह सवाल लोगो का काफी उठ रहा है की चन्द्रमा पर अब तो रात हो गयी तो प्रज्ञान को कैसे बचाया जाएगा वहा पर क्या प्रज्ञान सुरक्षित रह पायेगा और बताया जा रहा है की वैज्ञानिको का कहेना है की हमने तो येसा अभी कोइ भी यन्त्र नहीं बनाकर चन्द्रमा पर भेजा है प्रज्ञान के साथ की प्रज्ञान को अपने साथ लेकर भारत आ जाए और बताया जा रहा है की चंद्रामा पर वायु मंडल नहीं है और वहा पर भू स्खलन भी जादे होता है इस लिए लोगो का कहेना है की प्रज्ञान वहा पर कैसे सुरक्षित रहेगा और क्या वह फिर 14 दिनों के बाद सही से काम कर पायेगा और अगर काम नहीं कर पाया तो क्या होगा और आपको बता दे की इसरो का कहेना है हम 14 दिनों के बाद प्रज्ञान को सिगनल भेजेंगे और अगर सिगनल सही से काम किया तो हम फिर से चन्द्रमा के बारे में खोज करना शुरू कर देंगे और हमारा मिशन फिर से शुरू हो जाएगा वैज्ञानिकों का कहेना है प्रज्ञान हम लोगो को काफी जानकारी भेज चुकी है और अभी उसका जाँच किया जा रहा है कुछ भी मालूम होते सबको बताया जाएगा आप लोगो को पता ही है चंद्रयान 3 के बाद भारत सूर्य पर भी अपना कदम रख दिया है और सूर्ययान को भी सूर्य पर भेज दिया गया है 125 दिन के बाद सूर्य के L-1 पर सुर्ययान पहुच जाएगा और फिर वह भी अपना काम करना शुरू कर देग यह सब देखर कई देशो के तो होस उड़ गए है और उनका कहेना है जो बड़े बड़े देश नहीं कर पाए ओ आज भारत देश करके दिखाया है आपको बता दे की काफी लोग इसरो के टीम को बधाई दे रहे है की उन्होंने जो कर दिखाया है आज तक कोई नहीं कर पाया था आपको बता दे की यह भारत के लिए बहुत ही बड़ी सफलता है जो भारत वैज्ञानिकों ने कर दिखाया है और इस काम का सारा श्रेय इसरो के वैज्ञानिकों को जाता है |

Leave a Comment