Chandrayan 3 : चन्द्रमा पर सूर्य उदय हो गया इसरो ने प्रज्ञान रोवर को सिगनल भेजा |  

Chandrayan 3 : चन्द्रमा पर सूर्य उदय हो गया इसरो ने प्रज्ञान रोवर को सिगनल भेजा |

तो दोस्तों आपको बता दे की बताया जा रहा है की की आज 22 सितम्बर को चन्द्रमा पर सूर्य उदय होगा और बताया जा रहा है की अब चन्द्रमा पर सूर्य उदय हो गया है और आपको बता दे की वहा जो प्रज्ञान रोवर को सुला दिया गया था अब वह जब उसपे सूर्य की किरने जब उस पर पड़ेंगी तो वह प्रज्ञान रोवर फिर से नकाम करना शुरू कर देगा क्या येसा होगा आपको बता दे की वैज्ञानिकों का कहेना है जब चन्द्रमा पर रात थी तब वहा पर ताप मान बहुत ही बढ़ गया था और बताया जा रहा है वैज्ञानिकों का कहेना है अगर प्रज्ञान की बैट्री और सभी लगाये गए उप करण अगर सही से काम किये तो बताया जा रहा है वह प्रज्ञान रोवर फिर से काम करना शुरू कर देगा लेकिन आपको बता दे की लोगो का कहेना है अगर येसा नहीं हुआ तो क्या होगा और आपको बता दे की इसरो के वैज्ञानिकों का कहेना है येसा येसा तो नहीं होना चाहिए मगर अब देखा जाएगा जब वहा पर सूर्य उदय होने के एक घंटे के बाद क्या होता है दोस्तों लेकिन आपको बता दे की इसरो के खुद ही कहा है की आज चन्द्रमा पर सूर्य उदय का दिन है इस लिए हम प्रज्ञान रोवर को सिगनल 23 सितम्बर को भेजेंगे लेकिन आपको बता दे की बताया जा रहा है की 22 सितम्बर को प्रज्ञान रोवर को सिगनल नहीं भेजा जाएगा और आपको बता दे की इसरो के वैज्ञानिकों ने खुद ही कहा है प्रज्ञान रोवर सिगनल 23 सितम्बर को भेजा जाएगा और आपको बता दे की बताया जा रहा है की जब प्रज्ञान रोवर को स्पील मोड में क्या गया था तो उसे दक्षिण दिशा की ओर खड़ा करके छोड़ा गया था |

प्रज्ञान रोवर ने चन्द्रमा पर क्या क्या पता लगाया है |  

तो दोस्तों आपको बता दे की लोगो का के मन में सवाल है की जब चंद्रयान 3 मिशन के तहत चंद्फ्रमा पर प्रज्ञान रोवर सही सलामत लैंडिंग कराया गया था तब प्रज्ञान रोवर ने चन्द्रमा पर क्या क्या चीजो का जाँच किया था लेकिन आपको बता दे की इसरो के वैज्ञानिको का कहेना है की जब प्रज्ञान रोवर को चन्द्रमा पर 14 दिन काम करने पर उसे क्या हासिल हुआ ये सब जानने के लिए बहुत ही लोग उत्साहित है की चन्द्रमा पर प्रज्ञान रोवर क्या पता लगाया है अभी तक तो दोस्तों आपको आपको बता दे की इसरो के वैज्ञानिकों के बताया है की 23 सितम्बर को प्रज्ञान रोवर को सिअगानल भेजा जाएगा अगर सब कुछ सही हुआ तो प्रज्ञान रोवर फिर से काम कर पायेगा और बताया जा रहा है की अगर प्रज्ञान रोवर ने फिर से काम करने शुरू कर देगा तो यह भारत देश के लिए बहुत ही गर्व की बात होगी की भारत व पहला देश बन जाएगा की चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रु पर भारत 14 दिनों तक काम किया फिर जब वहा पर रात हुयी तो प्रज्ञान रोवर को 14 दिनों के लिए सुलाकर फिर उसे 14 दिनों बाद फिर सिगनल भेजा जाएगा अगर यह सब ठीक हुआ तो भारत के नाम और भी उचा हो जाएगा और आपको बता दे की भारत तो वह पहला देश बन ही गया है जो चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रु पर चंद्रयान 3 सॉफ्ट लैंडिंग कराकर तो दोस्तों आपको बता दे की लोगो का कहेना है भारत ने बहुत ही बड़ी जित अपने नाम कर ली है और बताया जा रहा है भारत देश के साथ मिलकर अब कई देश यांत्रिक्ष में काम करने के लिए तैयार हो रहे है लेकिन दोस्तों आपको बता दे की चंद्रयान 3 मिशन के लिए इसरो के वैज्ञानिको ने उसे सॉफ्ट लैंडिंग कराने के लिए बहुत प्रयास किये और सफल भी हो गए |

Leave a Comment