Adity L-1 : आदित्य L-1 का इसरो से संपर्क टूट गया 2 बजे रात में इसरो को करना पड़ा ये काम |

Adity L-1 : आदित्य L-1 का इसरो से संपर्क टूट गया 2 बजे रात में इसरो को करना पड़ा ये काम |

तो दोस्तों आपको बता दे की बताया जा रहा है की जैसा की आपक लोग जानते है की भारत के इसरो के वैज्ञानिको ने सूर्य पर रिसर्च करने के लिए अपना L-1 मिशन को भेजे है आपको बता दे की बताया जा रहा है की आज रात 2 बजे इसरो के वैज्ञानिकों ने आदित्य L-1 को पृथ्वी के कक्षा से निकलकर उसे L-1 पॉइंट पर भेजा गया है यह काम रात को 2 बजे करीब में हुआ है बताया जा रहा है की इसरो की तीम ने चन्द्रमा पर सफल होने के कुछ दिनों बाद ही सूर्ययान को लंच कर दिए है है की अब सूर्य के बारे में कुछ्ह जानकारी मिल सके आपको बता दे की लोगो ने भी चंद्रयान 3 के लिए मंदिरों में व् स्कूलों में भगवान् प्रार्थना किये है चंद्रयान 3 सफल लैंडिंग हो सके और येसा ही हुआ की इसरो की मेहनत रंग लायी और चंद्रयान 3 सफलता पूर्वक चन्द्रमा पर उतर गया बताया जा रहा है चंद्रयान 3 चन्द्रमा पर उतर कर वहा के बारे में इसरो को जानकारी भी देता रहा आपको बता दे की इस सफलता से भारत पुरे देश में चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुचने वाला पहला देश बन गया लेकिन अब बारी है सूर्ययान की अब देखा जाएगा की सूर्ययान कब तक सूर्य के L-1 पॉइंट पर पहुचकर अपना काम जल्द ही शुरू कर दे तब मन जाएगा और आपको बता दे की इसरो के वैज्ञानिकों का दावा है की वह सूर्ययान को सूर्य के L-1 पॉइंट पर पंहुचा देंगे आपको बता दे की पृथ्वी की कक्षा से L-1 को L-1 पॉइंट के लिए भेज दिया गया है बताया जा रहा है 110 दिनों में वहा तक पहुच जाएगा |

इसरो के वैज्ञानिको पर आज पूरा देश उनकी मेहनत पर गर्व कर रहा है |

आपको बता दे की जैसे ही चंद्रयान 3 सफल हुआ वैसे ही पुरे देश में हा हा कार मच गयी और आपको बता दे की पूरा देश इसरो के वैज्ञानिकों बधाई एवं सुभकामनाए देने लगे की बस एसे ही हमारा देश और भी आगे जाए और नाम रोशन करे तो दोस्तों जैसा की आप सभी लोग जानते होंगे की इसरो के वैज्ञानिकों कितना मेहनत किया इन सबके पीछे तब जाकर ये संभव हो पाया है लेकिन बताया जा रहा है कि अब लोगो की नजर केवल सूर्ययान पर ही टिकी है अब वह कब तक वहा पर पहुचता है आपको बता दे की इसरो का कहेना है हम सूर्ययान को भेजकर सूर्य पर होने वाले हर एक चीच के बारे में पता लगा सकेंगे और उन्होंने कहा है की हम खास तौर पर सूर्य पर कोरोना की जाँच करेंगे और पता करेंगे की कभी भविष्य में पृथ्वी पर कोई भी खतरा सूर्य की वजह से न हो पाए और और अगर खतरा होने भी वाला रहे तो इसरो की टीम उसे रोक सके और बताया जा रहा है की इसरो के टीम के साथ मिलकर काम करने केलिए काफी देश तैयार है की हम भी अब भारत के इसरो के वैज्ञानिकों के साथ मिलकर काम करेंगे आपको बता दे की भारत देश भी बड़े देशो में जाना जाता है क्योकि भारत देश ने येसा काम कर दिया है जो आज कोई भी देश काम नहीं कर पाया था ओ अब भारत के इसरो के वैज्ञानिकों ने कर दिखाया है और आपको बता दे की अब भारत के चर्चे कई देशो में भी होने लगे है आपको बता दे की जैसे इसरो ने चन्द्रमा पर सफलता पायी है वैसे ही अब सूर्य पर भी इसरो सफलता पूर्वक पहुच पायेगा और लोगो ने भी बहुत ही उम्मीद लगाई है है इसरो इस काम में भी जल्द ही कामयाब हो और हमारे देश का और भी नाम रोशन हो |

Leave a Comment